Wednesday, February 3, 2016

उत्तर दिशा में अग्नि तत्व की उपस्थिति l

Image result for fire and water



जल का स्वभाव है कि यह बहता है और आगे बढ़ता रहता है। इसी कारण से ही जल स्वच्छता का कारक है। घर के उत्तरी भाग में जल तत्व का प्रभाव रहता है।


Image result for happy family



घर में जल तत्व संतुलित हो तो घर में रहने वाले सदस्यों की सोच बड़ी व ऊंची होती है, जिंदगी में उन्नति के अवसर आते रहते हैं, घर के सभी सदस्य कर्मठ होते हैं, प्रतिरोधक क्षमता बढ़िया होती है, जिससे कि कठिन परिस्थितियों से भी सरलता से निपट लेते हैं, ऐसे घर में रहने वाले लोग आध्यात्मिक होने के साथ-साथ सांसारिक कार्यों में भी चतुर होते हैं।

Image result for unhappy family


यदि घर के उत्तरी भाग में कोई दोष है तो जल तत्व असंतुलित हो जाएगा, ऐसे घर में रहने वाले लोगों की सोच सिमटी हुई होती है और उन्नति के अवसर कम प्राप्त होते हैं, करियर में भी कोई खास बढ़त नहीं मिलती, प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है, चिंता व तनाव बना रहता है।

Image result for water




जल और अग्नि एकदम विपरीत स्वभाव वाले होते हैं। घर में जलतत्व के स्थान पर अग्नि तत्व की उपस्थिति न होने दें। अग्नि तत्व से संबंधित कोई भी सामान जैसे गैस चूल्हा, भट्टी, हीटर, बिजली का मीटर बोर्ड आदि को उत्तर दिशा में स्थान न दें।



Image result for vastu picture for factory


                                                                                         


(गर्व से कहो हम हैं इंडियन)